जेद्दाह / मक्का – सऊदी अधिकारियों ने अनधिकृत उत्पादन और धार्मिक प्रतीकों यानी आयतों और काबे शरीफ की तस्वीर बनाकर बेचने वाले प्रवासियों के क़ारोबार को बंद कर दिया है . सऊदी सरकार का कहना है की प्रवासी अवैध तरीके से इन तस्वीरों का निर्माण कर रहे थे जिसके बाद इनकी बिक्री पर अपनी कार्रवाई को तेज कर दिया है.

सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक, अधिकारियों ने पहले इस तरह की वस्तुओं को बेचने पर प्रतिबंध के बारे में दुकानों को अधिसूचित किया था. आपको बता दें की मक्का यात्रा करने वाले लाखों तीर्थयात्रियों ने यादगारों को घर के पास निकट और प्रियजनों को उपहार के रूप में लेने और पवित्र शहर की अपनी यात्रा की स्मृति को संरक्षित रखने के लिए भी खरीदते है.

साथ ही आपको बता दें की यह क़ारोबार भी ज्यादातर प्रवासियों द्वारा ही किया जाता है. तीर्थयात्रियों को स्मृति चिन्ह बनाना और बेचना आकर्षक व्यवसाय है. अधिकारियों ने हाल ही में काबा शरीफ समेत महत्वपूर्ण धार्मिक प्रतीकों का प्रतिनिधित्व करने वाले स्मारिका वस्तुओं के अनधिकृत विनिर्माण पर अपना ध्यान बदल दिया है.

सोमवार को, सुरक्षा बलों के समर्थन के साथ मक्का नगर पालिका के अधिकारियों ने एक सिलाई सुविधा पर कब्ज़ा किया जिसने कुशलतापूर्वक कढ़ाई वाले कपड़े का उत्पादन किया.

उन्होंने स्थान से विभिन्न राष्ट्रीयताओं के 20 प्रवासी कारीगरों को गिरफ्तार कर लिया. प्रवासी श्रमिकों ने नकली किस्वा और अन्य स्मारिका वस्तुओं को सिलाई के लिए शहर के अल-ओटाबियायाह पड़ोस में एक अवैध कारखाने में अपना निवास बदल दिया था.