मिडिल ईस्ट में सऊदी क्राउन प्रिंस एक बड़ा नाम है, जिन्हें सुधार परियोजनाओं के कारण जाना जाता है. जिनकी सुधार परियोजनाओं ने देश में अनेकों नए-नए क्षेत्रों में रोजगार को बढ़ावा दिया है और देश में कई ऐसे फैसले लिए हैं जिनकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी की ऐसे फैसले भी सऊदी अरब में लिए जायेंगे.

अल कायदा नहीं है खुश 

अरब नामा को मिली खबरों के अनुसार अरबी प्रायद्वीप (एक्यूएपी) में अल-कायदा ने अपने समाचार बुलेटिन में कहा है की “बिन सलमान के नए युग ने मूवी थियेटर के साथ मस्जिदों को बदल दिया है.”

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस बिन  सलमान ने अल्ट्राकंसर्वेटिव साम्राज्य में तथाकथित सुधारों का एक पैकेज लॉन्च किया था, जिसमे उन्होंने देश में कई परिवर्तन किये. ,जिसमे महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस मिलना और सिनेमा घरों की शुरुआत थी.

क्या कहा अल कायदा ने 

अल कायदा समूह द्वारा कहा गया है की “उन्होंने इमामों से संबंधित पुस्तकों के स्थान पर पूर्व और पश्चिम के नास्तिकों ओर धर्मनिरपेक्षवादियों की बेतुकी बातों को जगह दी है तथा भ्रष्टाचार एवं नैतिक पतन के लिए द्वार को पूरी तरह खोल दिया है.’ जिहादी संगठनों की गतिविधियों पर नजर रखने वाली अमेरिकी कंपनी साइट इंटेलीजेंस ग्रुप ने यह खबर उठाई है. “

अल-कायदा ने अपने बयान में कहा है कि मक्का में इस्लाम की सबसे पवित्र स्थल पर WWE के रॉयल रंबल प्रतियोगिता का आयोजन करना एक बेहद निंदनीय कृत्य है. बयान में कहा गया है कि मुस्लिम युवाओं और युवतियों के सामने रेसलर्स द्वारा अंग प्रदर्शन किया गया और उनमें से अधिकांश ने क्रॉस पहन रखा था.”

अल कायदा ने चेतावनी देकर कहा की “बन करो यह सब”. यह पाप है.