सऊदी के पत्रकारों जमाल खशोगी की इस्तांबुल में उनके देश के वाणिज्य दूतावास में हुई निर्मम ह’त्या के ठीक एक साल बाद, दुनिया के नेता रियाद में “रेगिस्तान में दावोस” नामक एक प्रमुख निवेशक बैठक में भाग लेने के लिए आ रहे हैं।

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक न्याय के लिए गंभीर रूप से हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को लाने में बहुत कम प्रगति हुई है, सीआईए और कई अन्य खुफिया एजेंसियों का मानना ​​है कि ह त्या सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने की है।

दुनिया के सबसे बड़े बैंकों और हथि यार निर्माताओं में से कुछ के पांच नेताओं को यह बात पता होने के बाद भी वह सऊदी पहुचं गये है।

भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ ब्रिटिश मंत्री हाई-प्रोफाइल मेहमानों में से हैं, जैसा कि जारेड कुशनर, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दामाद और सलाहकार शामिल हैं।