जेद्दाह – सऊदी अरब में काम कर रहे सभी भारतीय प्रवासियों को देश के इमिग्रेट मंच पर अनिवार्य एक बार पंजीकरण करना है, उन्होंने जेद्दाह में भारत के कंसुल जनरल नूर रहमान शेख की पुष्टि की। यह नियम सऊदी अरब में काम कर रहे सभी भारतीय नागरिकों और भारत के विदेश मामलों के मंत्रालय द्वारा सूचीबद्ध 17 अन्य देशों पर लागू होता है।

सऊदी गेजेट के मुताबिक , नूर ने सऊदी राजपत्र को बताया कि ऐसा करने में विफलता के परिणामस्वरूप 1 जनवरी, 2019 से भारत भर में सभी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों में अनियंत्रित भारतीयों की ऑफ-लोडिंग होगी।

कंसुल जनरल ने यह भी स्पष्ट किया कि सऊदी में रहने वाले भारतीय प्रवासियों के आश्रितों जैसे कि पति / पत्नी, मंच के तहत पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं है। जो लोग सऊदी अरब में अपने प्रवास या योग्यता की अवधि के बावजूद पहले से ही रोजगार वीजा पर काम कर रहे हैं और 17 अन्य सूचीबद्ध देशों में से किसी को भी भारत जाना होगा।

उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि जब तक एक भारतीय कर्मचारी एक ही कंपनी के रोजगार वीज़ा पर रहता है तब तक केवल एक बार पंजीकरण की आवश्यकता होती है। वीजा में कोई बदलाव होने तक हर बार घर वापस जाने के लिए पंजीकरण करना जरूरी नहीं है।

भारत सरकार द्वारा नए नियम के मुताबिक पंजीकरण भारत से प्रस्थान की तारीख से 21 दिन और 24 घंटे के बीच, ईमिग्रेट पोर्टल, www.emigrate.gov.in पर पूरा होना चाहिए।