कनाडा में हुए आम चुनाव में प्रधानमंत्री जस्टिन त्रूदो की लिबरल पार्टी कोबहुमत नहीं मिल सका है। हालांकि सबसे अधिक सीट जीतने के साथ वह सत्ता की दावेदार है। इस चुनाव में भारतीय मूल के कनाडाई जगमीत सिंह के नेतृत्व वाली न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी (एनडीपी) किंगमेकर बनकर उभरी है।

लिबरल पार्टी को 157 सीटों पर जीत मिली है, जो बहुमत के आंकड़े (170 सीटों) से 13 सीटें कम है। मुख्य विपक्षी नेता एंड्रयू स्कीर की कंजर्वेटिव पार्टी ने 121 सीटें जीतीं। चुनाव में वामपंथी रुझान वाली न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी (एनडीपी) के नेता और भारतवंशी जगमीत सिंह किंग मेकर बनकर उभरे हैं। एनडीपी ने 24 सीटें (16%) जीतीं। वहीं, अलगावादी पार्टी ब्लॉक क्यूबेकोइस को 32 सीटें मिलीं।


कनाडा की राजनीति में गुरमीत सिंह लिबरल विचार के अधिक नजदीक माने जाते हैं। ऐसे में गुरमीत सिंह का समर्थन सरकार बनाने के लिए अहम हो जाता है। गुरमीत ने चुनाव नतीजों के बाद कहा कि ट्रूडो को यह समझना चाहिए कि यह एक अल्पमत की सरकार है और हमें मिलकर काम करना होगा।

गुरमीत और ट्रूडो की पार्टी पहले भी गठबंधन में काम कर चुके हैं। चुनाव नतीजों के बाद सरदार गुरमीत सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी के सांसद कनाडियाई लोगों की भलाई के लिए सबसे जरूरी काम सबसे पहले करने वाले हैं। गुरमीत ने कहा कि सांसद अब ओटावा पहुंचकर जलवायु परिवर्तन और लोगों की जिन्दगी बेहतर करने की लिए काम करेंगे।