पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों ने बताया कि सोमवार (आज) इमरान खान सऊदी अरब की आधिकारिक यात्रा पर जाएंगे. वह इस महीने के अंत में और अगले महीने की शुरुआत में चीन की यात्रा शुरू करेंगे.साथ ही इमरान खान मलेशिया का दौरा भी करेंगे.

आपको बता दें इन दिनों पाकिस्तान आर्थिक तंगी से झुझ रहा है. पाकिस्तान सरकार के पास देश को चलाने तक के पैसे नहीं है ऐसे में इमरान खान सहयोगी देशों से मदद की दरकार लगा रहा है. पाकिस्तान सऊदी से बड़ी मदद की सम्भावना रखता है इसलिए इमरान खान दूसरी बार सऊदी के दौरे पर जाएँगे.

संघीय कैबिनेट के एक सदस्य ने कहा कि प्रधान मंत्री तीन मेजबान देशों में अपने मेजबानों के साथ वित्तीय सहायता का मुद्दा उठा सकते हैं क्योंकि पाकिस्तान को चल रहे आर्थिक संकट को कम करने के लिए बुरी तरह की सहायता की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि वित्तीय संकट को कम करने और विदेशी लोन सेवानिवृत्त होने के लिए सरकार को तुरंत 12 अरब डॉलर से 13 अरब डॉलर की जरूरत है. उन्होंने कहा, “हमें सरकार के मामलों को चलाने के लिए विदेशी लोन सेवानिवृत्त होने के लिए $ 8 बिलियन और $ 5 बिलियन की जरूरत है.”

“अगर हमें अपने अनुकूल देशों से अच्छा मौद्रिक समर्थन मिलता है तो एक संभावना है कि हमें अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष [आईएमएफ] के समर्थन की आवश्यकता नहीं होगी.”