पाकिस्तान में फ़लस्तीनी राजदूत ने पाकिस्तान की जनता, सरकार और वहाँ के नेताओं का आभार जताते हुए कहा है कि उसकी कोशिशों को न केवल फ़लस्तीनी बल्कि सारी दुनिया याद रखेगी.

फ़लस्तीनी राजदूत ने अहमद राबेइ ने रविवार को एक बयान में कहा,”हम फ़लस्तीनियों की आज़ादी को समर्थन देने, मासूम और नि:श’स्त्र फ़लस्तीनी लोगों पर किए गए इस’ राइ’ ल के ज़ु’ ल्म की निं’ दा करने के साथ-साथ फ़लस्तीनी मुद्दे के हल के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय से आग्रह करने के उनके (पाकिस्तान के) प्रयासों का दिल से आभार प्रकट करते हैं.”


राजदूत ने कहा कि पाकिस्तान ने सहमति करवाने में एक अहम भूमिका निभाई और इस “ऐतिहासिक भूमिका को न केवल फ़लस्तीनी बल्कि पूरी दुनिया याद रखेगी.”

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने इस्लामिक देशों के संगठन ओआईसी और संयुक्त राष्ट्र महासभा की आपात बैठक करवाने के लिए प्रयास किए जिसकी “बहुत प्रशंसा” हुई है.राजदूत ने कहा, ”ग़ज़ा की लड़ाई भले ख़’त्म हो गई है मगर उनकी आज़ादी की लड़ा’ई जारी है.”

उन्होंने कहा,”अपने पाकिस्तानी भाइयों के साथ हम फ़लस्तीन को आज़ाद कराएँगे और एक दिन फ़लस्तीन की राजधानी अल-क़ुद्स अल शरीफ़ की अल-अक़्सा मस्जिद में साथ नमाज़ पढ़ेंगे.”