सऊदी अरब ने एक ऐतिहासिक फैसले में गुरुवार को हज महिलाओं को बिना पुरुष अभिभावक के तीर्थयात्रा करने की अनुमति दे दी। सऊदी अरब के हज मंत्री और उमराह तौफीक बिन फवजान अल रबियाह ने इस ऐतिहासिक फैसले की घोषणा की है। सऊदी अरब पिछले कुछ सालों से महिलाओं के अधिकारों को लेकर अपनी छवि बदलने की कोशिश कर रहा है. इससे पहले इसने महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस और वोट देने का अधिकार दिया था।

तौफीक बिन फवजान अल रबियाह ने कहा कि दुनिया भर के मुसलमानों के लिए उमराह वीजा के लिए कोई कोटा या सीमा नहीं है। किसी भी वीजा के साथ राज्य में आने वाले मुसलमानों को उमराह करने की अनुमति होगी। उन्होंने कहा कि मक्का में मस्जिद के विस्तार की लागत पहले ही लगभग 200 अरब सऊदी रियाल (53 अरब डॉलर) से अधिक हो चुकी है। उन्होंने इसे इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा और सबसे महंगा विस्तार बताया।

हज यात्रा का खर्चा घटाने में जुटा सऊदी अरब

मंत्री ने कहा कि मंत्रालय हज करने की लागत को कम करने की दिशा में काम कर रहा है, ताकि इसे सभी के लिए संभव बनाया जा सके। सरकार के फैसले पर हज मंत्री के पूर्व सलाहकार, लेखक फतेन इब्राहिम हुसैन ने कहा कि सऊदी अरब अपने 2030 के लक्ष्य को हासिल करने के लिए सुविधाएं मुहैया करा रहा है.

Previous articleउर्फी ने पहनी ऐसी ड्रेस की लोगो को किया हैरान