ओमान के शासक हैथम बिन तारिक अल सईद ने देश में 28 नए शाही फरमान जारी किए हैं, जिसमें मंत्रालयों की स्थापना, एक का दुसरे में विलय और कुछ मंत्रालयों का नाम परिवर्तन शामिल हैं. जिन मंत्रालयों से सम्बंधित घोषणा की गयी हैं, उनमें अर्थव्यवस्था मंत्रालय, परिवहन मंत्रालय, संचार और सूचना प्रौद्योगिकी, श्रम मंत्रालय और संस्कृति मंत्रालय, खेल और युवा मंत्रालय शामिल हैं. इन मंत्रालयों की स्थापना और उनके कार्यक्षेत्र तय करने और उनके संगठनात्मक ढांचे को मंजूरी देने से सम्बंधित घोषणाएं की गयी हैं.

रॉयल डिक्रीज़ ने जिन मंत्रालयों के विषय में घोषणाएं की हैं, उनमें कई नाम शामिल हैं. ऊर्जा और खनिज मंत्रालय को तेल और गैस मंत्रालय के अधीन कर दिया गया है. तो वहीँ, आवास और शहरी नियोजन मंत्रालय को आवास मंत्रालय बना दिया गया है. कृषि और मत्स्य मंत्रालय को अब कृषि, मत्स्य और जल संसाधन मंत्रालय बना दिया गया है. विरासत और पर्यटन मंत्रालय को अब विरासत और संस्कृति मंत्रालय का नाम दिया गया है.

इसके अलावा, व्यापार और उद्योग मंत्रालय का नाम अब व्यापार और उद्योग मंत्रालय और निवेश प्रोत्साहन मंत्रालय कर दिया गया है, व जिम्मेदारियां भी इसी अनुपात में घटा-बढ़ा दी गयी हैं. इस फैसले के तहत रॉयल डिक्री ने न्याय मंत्रालय और कानूनी मामलों के मंत्रालय को भी न्याय और कानूनी मामलों के मंत्रालय में मिला दिया है. इसकी संदर्भ शर्तों को परिभाषित करते हुए और इसकी संगठनात्मक संरचना को भी मंजूरी दे दी गई है.

ज्ञात हो कि ओमान के शासक हैथम बिन तारिक अल सईद ने सुल्तान कबूस के नि’धन के बाद इस वर्ष की शुरुआत में पदभार संभाला है. इस दौरान सुल्तान हैथम ने वादा किया कि नया शासन सार्वजनिक ऋण और राजकोषीय घाटे को कम करने के साथ-साथ ओमान सरकार के सार्वजनिक तंत्र और कंपनियों के पुनर्गठन पर काम करेगा. नई सरकार की पहली पालिसी देश हितों को प्राथमिकता देते हुए काम करना होगा.