फिलिस्तीन में गाजा के खिला’फ यु’द्ध में इज’रा’यल का समर्थन करने को लेकर एक अमेरिकी महिला शिक्षक को कुवैत में अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है।

विशेष शिक्षा प्रशासन ने एक निजी स्कूल में काम करने वाली अमेरिकी शिक्षिका के सोशल मीडिया अकाउंट पर इज’रा’यल के साथ सहानुभूति रखने वाली पोस्ट करने के बाद उसके परमिट को रद्द करने का निर्णय जारी किया।

विशेष शिक्षा विभाग ने जांच प्रक्रिया शुरू की है और स्कूल प्रशासन को शिक्षक की जांच करने और घ’टना पर एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए एक पत्र भेजा है। बता दें कि कुवैत में कुछ नियम और निर्णय शैक्षणिक संस्थानों को राजनीति में शामिल होने से रोकते हैं।

सूत्रों ने बताया कि जिस निजी स्कूल में शिक्षिका काम करती है, उसने सीधे शिक्षक की सेवाएं समाप्त करने की पहल की है। विशेष शिक्षा प्रशासन ने शिक्षिका को काली सूची में डाल दिया, जो उसे कुवैत में किसी भी स्कूल, विशेष रूप से सरकार में पढ़ाने से रोकता है।
we
उल्लेखनीय है कि इससे पहले कुछ और मामले सामने आए थे। जिसके बाद कुवैत स्थित भारतीय दूतावास ने भी अपने नागरिकों को कुवैत के क़ानूनों का पालन और सम्मान करने की सलाह दी थी।