कुवैत में बड़ी तादाद में प्रवासियों को देश से बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. कुवैत की नेशनल अस्सेम्बली ने देश में प्रवासी कामगारों को कम करने और कुछ प्रकार के वीजा हस्तांतरणों पर प्रतिबं’ध लगाने के लिए एक विधेयक का मसौदा तैयार किया है. यह कानू’न लागू होने के छह महीने के अन्दर देश में अनुमति प्राप्त प्रवासियों की अधिकतम संख्या पर फैसला किया जाएगा. यह कानू’न स्थानीय आबादी की तुलना में विदेशी कामगारों की संख्या कम करने के मुख्य उद्देश्य से बनाया गया है.

खबर है कि इस बिल में घरेलू सहायकों, चिकित्सा कर्मचारियों, शिक्षकों और जीसीसी नागरिकों सहित कोटा सिस्टम के 10 अलग-अलग श्रेणी के श्रमिकों को छूट दी जाएगी. कुछ वीजा प्रकारों और वर्तमान प्रक्रियाओं पर भी प्रतिबं’ध लगाया जाएगा, जिसमें निजी वीजा या तेल क्षेत्रों में काम करने के लिए यात्रा वीजा के हस्तांतरण पर प्रतिबंध, या घरेलू सहायकों के स्थानांतरण शामिल हैं. साथ ही, इस कानू’न के अनुसार एक नई समिति, कुवैत की जनसांख्यिकी के विनियमन और प्रशासन के लिए राष्ट्रीय समिति भी बनाई जाएगी. देश में विस्तार की संख्या को कम करने के लिए अधिकारी कई योजनाओं पर काम कर रहे हैं.

इसी कड़ी में पिछले हफ्ते कुवैत ने एक और घोषणा की थी जिसमें कहा गया था कि 60 से अधिक आयु वर्ग वालों के लिए विश्वविद्यालय की डिग्री के बिना वर्क परमिट जारी करना बंद कर देगा. साथ ही 31 अगस्त के बाद किसी भी रेजीडेंसी और वीजा को रिन्यू नहीं किया जायेगा. यह नया नियम भी देश में प्रवासी कामगारों की संख्या कम करने और कुवैती नागरिकों को अधिक से अधिक रोजगार के अवसर मुहैया कराने के मकसद से बनाया गया है.