पाकिस्तान में इन दिनों एक महला को लेकर काफी हंगामा हो रहा है. यह हंगामा इतना ज्यादा बढ़ गया है की पाकिस्तान की आवाम देश पर उतर आई है. दरअसल पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने ईशनिंदा के आरोपों से एक ईसाई महिला को बरी किया जिसका नाम आसिया बीबी है, तो अब देशभर में पाकिस्तान के लोग इसका विरोध कर रहे है.

जानिये क्या पूरा मामला?

2010 में चार बच्चों की मां आसिया का अपने मुस्लिम पड़ोसियों के साथ विवाद हो गया था. आसिया की गलती सिर्फ इतनी थी कि तेज धूप में उसे काम करते वक्त प्यास लग गई और उसने कुएं के पास मुस्लिम महिलाओं के लिए रखे गिलास से पानी पी लिया। इसके बाद मुस्लिम महिलाओं ने कहा कि गिलास अशुद्ध हो गया.

इसके बाद आसिया अपनी पड़ोसी महिलाओं को समझाने लगीं. उन्होंने ईसा मसीह और पैगंबर मोहम्मद की तुलना कर दी. इसके बाद पड़ोसियों ने उनपर ईशनिंदा कानून के तहत मामला दर्ज कराया. पिछले आठ वर्षों से आसिया जेल में हैं. अब पाकिस्तान कोर्ट ने आसिया बीबी को रिहा कर दिया है जिसके बाद देश का माहौल बिगड़ गया है.

इस विडियो को आखिर तक देखें-

विदेश क्यों कर रहे आसिया बीबी को बचने में मदद?

 आसिया बीबी पाकिस्तान कोर्ट और जिस गाँव में वह रहती थी वहां की आवाम से अपने गुनाह को कुबूल कर चुकी है लेकिन पाकिस्तान सरकार शायद मामले को दबाने की कोशिश कर रहा है.  आसिया बीबी की मदद के लिए इटली, जर्मनी आगे आयें है साथ ही पोप फ्रांसिस भी आसिया बीबी का ही समर्थन कर रहे है. वहीँ पाकिस्तान आवाम की सरकार से दरख्वास्त है वह बिना किसी पक्ष के साथ आसिया मामले पर सही कार्यवाही करें.

साथ ही आपको बता दें की आसिया बीबी खुद अपने मुह से कुबूल कर चुकी है की उन्होंने रसूल के पाक की शान में गुस्ताखी की है. इसलिए पाकिस्तान की आवाम चाहती है आसिया को मौत की सज़ा मिले लेकिन पाकिस्तान कोर्ट की तरफ से आसिया को बाइज्ज़त बारी करने के बाद पाकिस्तान की जनता सरकार के खिलाफ विरोध करती नज़र आ रही है.