राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने ईरान के साथ संबंध विस्तार में भारत का संकल्प जताया है।

भारतीय राष्ट्रपति ने कहा है कि ईरान के साथ राजनैतिक, आर्थिक, व्यापारिक और सांस्कृतिक क्षेत्रों में संबंध व सहयोग में विस्तार को नई दिल्ली अहमियत देता है। संवाददाता के अनुसार, भारतीय राष्ट्रपति ने नई दिल्ली के लिए ईरान के नए राजदूत अली चगीनी के प्रत्यय पत्र क़ुबूल करने के समारोह में यह बात कही।

उन्होंने ईरान-भारत सांस्कृतिक व ऐतिहासिक समानताओं की ओर इशारा करते हुए बल दिया कि दोनों देशों के बीच व्यापारिक लेन-देन का मूल्य मौजूदा 13 अरब डॉलर से ऊपर पहुंचना चाहिए।

भारतीय राष्ट्रपति ने ईरान के दक्षिण-पूर्व में स्थित चाबहार बंदरगाह के विकास को दोनों देशों के बीच अच्छे सहयोग का प्रतीक बताते हुए कहा कि नई दिल्ली और तेहरान को चाहिए कि बहुपक्षीय संबंधों में विस्तार के लिए मौजूद अवसरों व क्षमताओं से बेहतरीन ढंग से फ़ायदा उठाया जाए।

श्री रामनाथ कोविंद ने बुधवार को ईरान के चाबहार में हुए आतंकवादी हमले की भर्त्सना करते हुए ईरानी राष्ट्र, सरकार और हमले के पीड़ितों के परिजनों से हमदर्दी जतायी।

भारत के लिए ईरान के नए राजदूत अली चगीनी ने इस अवसर पर कहा कि ईरान भारत के साथ संबंधों के विस्तार में किसी तरह की सीमित्ता का क़ायल नहीं है और तेहरान व्यापारिक व आर्थिक क्षेत्र में दोनों देशों के संबंध के स्तर को बढ़ाने की कोशिश कर रहा है।