सऊदी अरब के कुख्यात मुफ़्ती शैख़ मुहम्मद अलउरैफ़ी ने, जो सीरिया में आतंकियों को जेहादे निकाह के नाम पर महिलाओं के बलात्कार की छूट देने की वजह से पहचाना जाता है, जमाल ख़ाशुक़जी मामले में संकट उत्पन्न होने के बाद सऊदी अरब के युवराज मुहम्मद बिन सलमान का खुल कर समर्थन किया है और ट्वीट करके कहा है कि हम सबको उन पर पूरा विश्वास है।

उरैफ़ी ने अपने ट्वीट में कहा है कि मुसलमानों के मामलों के ज़िम्मेदार व्यक्ति (मुहम्मद बिन सलमान) के लिए दुआ करना हम सबके लिए अनिवार्य है। हमें उनके लिए भलाई और सामर्थ्य की दुआ करनी चाहिए और सऊदी अरब की भलाई न चाहने वाले दुश्मनों के मुक़ाबले में उनसे सहयोग करना चाहिए।

शैख़ मुहम्मद अलउरैफ़ी ने अपने ट्वीट में कहा है कि ईश्वर के भले बंदो और देश के हित में और सऊदी अरब के सम्मान व गौरव से ख़ुश न होने वाले द्वेषियों और मतभेद पैदा करने की आशा रखने वाले दुश्मनों से दूरी के परिप्रेक्ष्य में हमें एक दूसरे से सहयोग करना चाहिए। उरैफ़ी के इस ट्वीट पर विभिन्न प्रकार की प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं।