कोरोना महामा’री के बीच तबाह होती अर्थव्यवस्था तो एक चिंता का विषय है ही, सऊदी अरब के लिए इसके साथ-साथ एक और चिंता खड़ी हो गयी है. खबर है कि सऊदी अरब में साइबर क्रा’इम में बढ़ोतरी हो सकती है. दरअसल कोरोना महामा’री के दौरान कई कंपनियों ने ऑनलाइन ही सामान्य रूप से कारोबार करना जारी रखा है, ऐसे में उनके लिए साइबर अटै’क्स और साइबर क्रा’इम्स का खत’रा काफी बढ़ता हुआ लग रहा है, जिसके विषय में इन कंपनियों ने चिंता जाहिर की है.

इस विषय में साइबर एक्सपर्ट्स ने बताया है कि साइबर अपरा’धियों ने घर से काम करने वाले कर्मचारियों की बढ़ती संख्या को इन दिनों अपना लक्ष्य बना रखा है. इस विषय में सऊदी संचार और सूचना प्रौद्योगिकी द्वारा आयोजित एक वर्चुअल मीटिंग में बताया गया कि साइबर क्राइ’म के जरिए कंपनियों का डाटा लीक होने का ख’तरा काफी बढ़ जाता है, जिस कारण कंपनियों और कर्मचारियों के साथ साइबर अपरा’धों का खत’रा बना रहता है.

‘साइबरस्पेस और कोरोनोवायरस महामा’री’ मंच ने साइबर सेफ्टी के साथ-साथ व्यावसायिक संचालन की सुरक्षा के लिए साइबर सुरक्षा के जो’खिमों और रणनीतियों पर भी बातचीत की. मैकिन्से एंड कंपनी के विशेष वक्ता और पार्टनर जिम बोहम ने कहा कि महामा’री ने मुख्यत दो मामलों में काफी परेशानी खड़ी कर दी है. एक, काम के दौरान घर की व्यवस्था को भी बनाये रखना और दुसरे, वॉल्यूम ट्रैक्स के रूप में नेटवर्क ट्रैफ़िक की निर्बाध उपलब्धता को बनाए रखना. ये दोनों मुद्दे सरकार और कंपनियों के कर्ताधारकों की परेशानी लगातार रहे है. ऐसे में लोगों को चाहिए कि वे खुद भी साइबर क्रा’इम से बचे रहने की यथासंभव कोशिशें करते रहें और सावधान रहें.