नॉर्वे में पिछले हफ्ते इस्लाम विरो’धी रैली में पवित्र कुरान की एक प्रति को जलाने से पूरी मुस्लिम दुनिया में भारी गुस्सा देखने को मिल रहा है। इसी बीच तुर्की ने शुक्रवार को नार्वे के एक शहर में पवित्र कुरान के अप’मान की कड़ी शब्दों में निं’दा की।

तुर्की के विदेश मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है, “हम 16 नवंबर 2019 को नॉर्वे के क्रिस्टियानसैंड में एक इस्लाम विरोधी संगठन द्वारा आयोजित प्रदर्शन में, हमारी पवित्र पुस्तक पवित्र कुरान के अनादर की कड़ी निंदा करते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि इस तरह की कार्रवाइयों को रोका जाए और जल्द से जल्द न्याय के लिए जिम्मेदार ठहराया जाए।”


मंत्रालय ने कहा, “ये हमले न केवल मुसलमानों के लिए उद्देश्यपूर्ण हैं, बल्कि पूरी मानवता के लिए खतरा भी हैं।” मंत्रालय ने कहा कि तुर्की धर्म या विश्वास के आधार पर आ’तंक’वाद और हिंसा के अन्य कार्यों से निपटने के लिए अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों का नेतृत्व करेगा।

वहीं पाकिस्तान ने भी कड़ा वि’रोध जताया। विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल खान ने एक बयान में कहा, “हम सभी धर्मों का सम्मान करते हैं और दूसरों से भी हमारा सम्मान करने की उम्मीद करते हैं।”

बता दें कि इस्लाम वि’रो’धी नेता लार्स थोर्सन ने एक रैली के दौरान पवित्र कुरान की प्रति में आग लगा दी। इस दौरान इलयास नाम के मुस्लिम युवक ने उसकी पिटाई भी कर दी। बताया जा रहा है कि पुलिस ने ही इस इस्लाम वि’रोधी रैली की इजाजत दी थी। घ’टना शनिवार की है। पुलिस ने कुरान जलाने वाले थोर्सन और उनपर ह’म’ला करने वाले लोगों को गि’रफ़्ता’र कर लिया है।