चीन लम्बे वक़्त से लगातार उइघुर मुस्लिमों पर जु’ल्म करता रहा है. चीन में लगातार उइघुर मुस्लिमों की आबादी को ख़’त्म करने की कोशिशें की जा रही हैं. उन पर इस्लाम छोड़ने को जब’रन द’बा’व बनाना, रोजे न रखने देना, बच्चे न पैदा करने देना, जब’रन ऑप’रेशन करके उनके अंग निकालना, महिलाओं के साथ ब’ला’त्का’र, ग’र्भ’पा’त, नस’बं’दी जैसे कई अ’त्या’चार चीन में उइघुर मुस्लिमों पर किये जा रहे हैं. इसी कड़ी में चीन ने एक ऐसी नी’च हरकत की है, जो न केवल उइघुर मुस्लिमों, बल्कि दुनिया भर के मुसलमानों की भावनाओं को बु’री तरह आ’ह’त करने वाली है. चीन के शिनजियांग में उइघुर मुस्लिमों की एक मस्जिद को तो’ड़कर वहाँ पब्लिक टॉयलेट बना दिया गया है. एक स्थानीय अधिकारी के मुताबिक, उत्तर-पश्चिमी चीन के शिनजियांग प्रांत के अतुश में ढहाई गई एक मस्जिद की जगह पर सार्वजनिक शौचालय का निर्माण किया गया है.

रेडियो फ्री एशिया (आरएफए) के हवाले से पता चला है कि अतुश के सनतघ गांव में टोकुल मस्जिद की पूर्व साइट पर शौचालय का निर्माण एक अभियान का हिस्सा है. पर्यवेक्षकों का कहना है कि इसका उद्देश्य उइगर मुसलमानों का मनोबल तो’ड़ना है. आरएफए की उइगर सर्विस द्वारा टोकुल मस्जिद स्थल पर शौचालय के निर्माण की रिपोर्ट सामने आने के बाद पता चला कि अधिकारियों ने 2016 में एक अभियान शुरू किया था जिसके तहत उइघुर मुस्लिमों की 3 मस्जिदों को तो’ड़ दिया गया. इन्हीं में से एक मस्जिद की जगह पर सार्वजनिक शौचालय बनाया गया है. यह अभियान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के नेतृत्व में उन क’ट्ट’र नीतियों का एक हिस्सा भर है, जिनके ज़रिये अप्रैल 2017 से 18 करोड़ उइगर मुस्लिमो और अन्य मुस्लिम समुदायों का सामूहिक उ’त्पी’ड़न किया जा रहा है.