भारत का पडोसी देश पाकिस्तान इन दिनों आर्थिक तंगी का शिकार बना हुआ है. जिससे उभरने के लिए पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान मदद के लिए कई सहयोगी देशों से कर्ज़ मांगने के लिए उन देशों का दौरा कर रहे है. जिसमें सऊदी, चीन और मलेशिया जैसे देश शामिल है.

मीडिया रेप्रोत के मुताबिक, आर्थिक संकट से उबरने में सऊदी अरब से सहारा मिलने के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान नया कर्ज लेने के लिए चीन जाएंगे. इमरान ने हाल में सऊदी अरब का दौरा किया था और इस खाड़ी देश ने पाकिस्तान को छह अरब डॉलर (करीब 44 हजार करोड़ रुपये) की आर्थिक मदद देने की बात कही थी.

इसके बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि इमरान खान के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल दो से पांच नवंबर तक चीन के दौरे पर रहेगा. इमरान के साथ विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी होंगे. इस दौरान दोनों देशों में कई समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे.

वहीँ पाकिस्तान के अधिकारियों का कहना है कि सऊदी अरब से मिला राहत पैकेज पर्याप्त नहीं है. पाकिस्तान को और आर्थिक मदद की जरूरत है. आर्थिक संकट को टालने के लिए अंतराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आइएमएफ) से बेलआउट मांगने की भी योजना है.