जमजम का पानी जिसे सबसे पवित्र माना जाता है उसकी सऊदी अरब में 100 नमूनों में जांच की जाती है.

इसलिए होता है 100 सैंपल में टेस्ट 

वर्ल्ड न्यूज अरेबिया को मिली खबरों के अनुसार रमजान के दौरान हर रोज ज़मज़म पानी के कम से कम 100 नमूनों में जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि यह दूषित नहीं है और यह सूक्ष्म जीवों से मुक्त है.

इस पवित्र पानी का परीक्षण सुकिआ ज़मज़म द्वारा आयोजित किया जाता है और यह दो पवित्र मस्जिदों के मामलों के लिए जनरल प्रेसीडेंसी के तहत काम करता है.

सुकिया ज़मज़म ओसामा अल-हाजीली विभाग के निदेशक ने कहा कि “सभी आउटलेट अंक, जलाशयों और सीलिंग स्टेशनों से परीक्षण के लिए ज़मज़म जल के नमूने एकत्र किए जाते हैं.”

उन्होंने कहा कि “ऐसे परीक्षण सुरक्षा सुनिश्चित करने और आगंतुकों और तीर्थयात्रियों को शुद्ध और अच्छे  पानी तक सुरक्षित पहुंच की गारंटी के लिए आयोजित किए जाते हैं.”

उन्होंने कहा की “जमजम पानी प्रदान करने के लिए लगभग 25,000 कंटेनर के अलावा ग्रैंड मस्जिद में 660 ज़मज़म ड्रिंक स्टेशन हैं.” ग्रैंड मस्जिद के अंदर धन्य ज़मज़म पानी को संरक्षित करने के लिए 352 स्टेनलेस स्टील टैंक हैं.

सौजन्य से-सऊदी गैजेट

पानी कहां से आता है?

अल अरबिया डॉट नेट के मुताबिक़ जमजम कुँए में पानी तीन स्थानों से आता है. यह पता चला है कि इस कुएं में हुजरे असवद, जबल अबू क़ैस और अलमकबरया की दिशाओं से जमा होता है.

ज़मज़ज़म कुँए की बचाव के लिए इसके चारों ओर एक इमारत बनाई गई है. यह कई मंजिला इमारत है. कुंएं के चारों ओर एक जाली भी लगाई गई है. इस कुएं की एक पुरानी डोल जिस पर 1299 हिजरी की तारीख लिखी है हरमैन शरीफ़ैन के संग्रहालय में मौजूद है. सन् 1377 हिजरी में ज़मज़म की इमारत ढा दी गई थी और उसकी जगह एक रास्ता बनाया गया था. यह रास्ता भी समाप्त कर दिया गया है.

सौजन्य से-सऊदी गैजेट

जमजम कुँए को सन् 1400 हिजरी में स्वर्गीय शाह खालिद के आदेश पर साफ किया गया था. सन् 2010 में शाह अब्दुल्ला बिन अब्दुल अजीज ने जमजम पानी को साफ और सुरक्षित करने के लिए 700 मिलियन डॉलर के मंसूबे को मंजूरी दी. इस परियोजना के तहत मस्जिद हराम से साढ़े चार किलोमीटर दूर ज़मज़म कारखाना स्थापित किया गया.

इस कारखाने में जमजम पानी को स्टोर किया जाता है.13 हजार 405 वर्ग मीटर पर बनाई गई इस इमारत में दैनिक दो लाख गैलन जमजम जमा किया जाता है जिसे हरम मक्की में इस्तेमाल किया जाता है.

जमजम पानी को टैंकरों की मदद से मदीना भेजा जाता है. मस्जिद अल हरम  में जमजम पानी को ठंडा रखने का उचित प्रबंधन है. पानी बचाएं सात हजार पॉइंट्स बनाए गए हैं.